Term Insurance: टर्म इंश्योरेंस क्या होता है?

term Insurance

Term Insurance: दोस्तों, आपने बहुत बार Term Insurance के बारे में सुना होगा। आज हम आपको अपने इस लेख में टर्म इंश्योरेंस से संबंधित सारी जानकारी देंगे। और इसके साथ में यह भी बताएंगे कि यह टर्म इंश्योरेंस प्लान कैसे खरीदा जाता है और इसका मतलब क्या होता है और यह आम इंश्योरेंस से किस प्रकार अलग होता  है।

यदि आप भी कोई टर्म इंश्योरेंस लेने की सोच रहे हैं तो आपको यह जानना जरूरी होगा कि टर्म इंश्योरेंस क्या होता है। आज हम अपने इस लेख में टर्म इंश्योरेंस को विस्तार से बताएंगे।

Term Insurance: टर्म इंश्योरेंस क्या होता है?

टर्म इंश्योरेंस एक प्रकार से जीवन बीमा पॉलिसी की तरह ही होता है । इसमें  पॉलिसी धारक की पॉलिसी अवधि के बीच में ही आकस्मिक मृत्यु हो जाये तो पॉलिसी धारक व्यक्ति के नॉमिनी को बीमा की राशि प्रदान कर दी जाती है।

व्यक्ति जब पॉलिसी खरीदता है तो उसी समय उस व्यक्ति के द्वारा एक नॉमिनी व्यक्ति का चयन कर दिया जाता है। Term Insurance कराने वाला व्यक्ति अपनी जरुरत के अनुसार टर्म इंश्योरेंस राशि का चुनाव कर सकता है।

term insurance

टर्म इंश्योरेंस एक प्रकार से जीवन बीमा पॉलिसी की तरह ही होता है । इसमें  पॉलिसी धारक की पॉलिसी अवधि के बीच में ही आकस्मिक मृत्यु हो जाये तो पॉलिसी धारक व्यक्ति के नॉमिनी को  बीमा की राशि प्रदान कर दी जाती है।

व्यक्ति जब पॉलिसी खरीदता है तो उसी समय उस व्यक्ति के द्वारा एक नॉमिनी व्यक्ति का चयन कर दिया जाता है। Term Insurance कराने वाला व्यक्ति अपनी जरुरत के अनुसार टर्म इंश्योरेंस राशि का चुनाव कर सकता है।

टर्म इंश्योरेंस हर व्यक्ति को करना चाहिए। यह आपके बाद में आपके परिवार की आर्थिक मदद है।

टर्म इंश्योरेंस साधारण पॉलिसी से अलग है। इस टर्म इंश्योरेंस में आपको रिटर्न कुछ नहीं मिलता है। मान लीजिए पॉलिसी अवधि के दौरान पॉलिसी धारक की मृत्यु नहीं होती है तो उस स्थिति में पॉलिसी धारक को कुछ भी रिटर्न नहीं मिलेगा। परंतु जब आप टर्म इंश्योरेंस प्लान लेते हैं तब व्यक्ति की सालाना आय की 20 गुना का टर्म इंश्योरेंस दे दिया जाता है। 

इसका प्रीमियम साधारण विमा से कम होता है। जब आप यह टर्म इंश्योरेंस प्लान लेते हैं तब आप अपने टर्म कवरेज को बढ़ाने का विकल्प का भी चुनाव कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने टर्म प्लान में कुछ राइडर्स को जोड़कर अपनी जरूरत के हिसाब से इस टर्म इंश्योरेंस को कवरेज प्रदान कर सकते हैं।

इन राइडर्स के लिए आपको बीमा कंपनी को कुछ अधिक प्रीमियम का भुगतान करना होता है। इन राइडर्स में बीमा कंपनी को जैसे एक्सीडेंटल राइडर, डिसेबिलिटी राइडर, क्रिटिकल इलनेस राइडर, टर्मिनल इलनेस राइडर विवर ऑफ प्रीमियम राइडर जैसे राइडर जोड़ने का विकल्प भी कंपनी के द्वारा दिया जाता है।

इन राइडर्स को आप ऐसे समझ सकते हैं जैसे हेल्थ इंश्योरेंस में टॉप अप। यह राइडर एक तरीके से टॉप अप प्लांस ही हैं जो कि हमें इस टर्म इंश्योरेंस के साथ में अलग से सुविधा लेने के लिए लेने होते हैं।

टर्म इंश्योरेंस प्लान में आपको प्रीमियम का भुगतान करने के लिए प्रीमियम भुगतान  के कई विकल्प मिलते है।

term insurance

इनमें से एकल प्रीमियम, वार्षिक प्रीमियम, अर्धवार्षिक प्रीमियम, मासिक प्रीमियम का विकल्प भी आप चुन सकते हैं और उसी के अनुसार भुगतान भी कर सकते हैं।

इस टर्म इंश्योरेंस में बीमा धारक व्यक्ति कि अगर पॉलिसी अवधि के दौरान मृत्यु नहीं होती है और वह अपनी जीवन खत्म होने से पहले ही पॉलिसी खत्म हो जाती है तो उस कंडीशन में व्यक्ति को मेच्योरिटी बेनिफिट नहीं दिए जाएंगे।

टर्म इंश्योरेंस प्लान में पॉलिसी अवधि के दौरान मृत्यु होने पर ही नॉमिनी व्यक्ति को मृत्यु लाभ के रूप में राशि दी जाती है।

टर्म इंश्योरेंस के प्रकार (Types Of Term Insurance)

लोगों के हितों को ध्यान में रखते हुए भारतीय बाजार में कई प्रकार के टर्म इंश्योरेंस मौजूद हैं। बीमा धारण करने वाला व्यक्ति अपनी आवश्यकताओं के अनुसार अंतर्मन शो रेंस में से कोई भी कार इंश्योरेंस प्लान बन सकता है।

1. मानक सावधि बीमा योजनाएं (Level Term Insurance)

मानक टर्म इंश्योरेंस प्लान सामान्य टर्म इंश्योरेंस प्लान है जिसमें पॉलिसी अवधि के दौरान अगर पॉलिसी धारक की आकस्मिक मृत्यु हो जाए तो पॉलिसी धारक के परिवार को निश्चित राशि दी जाती है।

2. समूह सावधि बीमा योजनाएं (Group Term Insurance)

ग्रुप टर्म इंश्योरेंस प्लान को विशेष रुप से कंपनियों, व्यवसायओं, सोसायटी और सहकारी समितियों के लिए ही बनाया गया है। इस टर्म इंश्योरेंस में कंपनी के सभी सदस्यों को जीवन बीमा दिया जाता है।

जिस प्रकार साधारण बीमा में व्यक्ति को जो लाभ दिया जाता है इसमें भी ठीक उसी प्रकार कंपनी के सदस्यों को जीवन बीमा का लाभ दिया जाता है लेकिन अंतर केवल इतना ही है ग्रुप टर्म इंश्योरेंस में सदस्यों को कवरेज बहुत अधिक दिया जाता है जो कि साधारण इंश्योरेंस में नहीं मिलता है।

3. प्रीमियम का टर्म रिटर्न (Return of Term Insurance)

यह भी एक प्रकार से देखा जाए तो टर्म इंश्योरेंस ही है इस इंश्योरेंस में आपकी प्रीमियम की वापसी हो जाती है। कैसे मान लीजिए कि आपने टर्म इंश्योरेंस किया है 25 साल का और आप इन 25 साल में जीवित रहते हैं और आपकी मृत्यु नहीं होगी तो कंपनी आपको कोई ब्याज या नहीं देगी वह आपकी प्रीमियम राशि को वापस कर देगी।

4. टर्म प्लान बढ़ाना और घटाना (Increasing and Decreasing Term Insurance)

इस टर्म इंश्योरेंस में प्लान बढ़ने के साथ-साथ प्लान की अवधि के दौरान प्लान का कवरेज भी बढ़ा दिया जाता है। पॉलिसी की अवधि के समय इसका कवरेज बढ़ता है तो इसके साथ-साथ कंपनी के द्वारा पॉलिसी की जोखिम की भी गणना की जाती है और क्षतिपर्ति की जाती है।

पॉलिसी कवरेज तब तक बढ़ता है जब तक की पॉलिसी एक निश्चित राशि नहीं पा लेती है यह निश्चित राशि वास्तविक पॉलिसी कवरेज से 1.5 गुना अधिक होता है।

घटते टर्म इंश्योरेंस प्लान के अनुसार प्रीमियम भुगतान की राशि पॉलिसी में दी जाने वाली कवरेज के दौरान एक निश्चित दर से घटती रहती है। घटते टर्म इंश्योरेंस प्लान का उपयोग ज्यादातर वित्तीय संसाधनों और बैंकों के द्वारा किया जाता है जो कि अपने ग्राहक को प्रदान किए गए होम लोन या बंधक के जोखिमों को कवर करते हैं।

5. परिवर्तनीय टर्म इंश्योरेंस प्लान (Convertible Term Insurance)

परिवर्तनीय टर्म इंश्योरेंस प्लान एक साधारण बीमा पॉलिसी है जिसको सीमित पॉलिसी अवधि के लिए लिया जाता है इसको संपूर्ण जीवन बीमा के साथ स्थाई जीवन बीमा पॉलिसी में भी परिवर्तन किया जा सकता है।

एक परिवर्तनीय टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि टर्म प्लान को पूरे जीवन में परिवर्तनीय करते समय पॉलिसी धारक को कोई चिकित्सा प्रमाण प्रस्तुत करने की जरूरत नहीं होती है।

टर्म इंश्योरेंस कैसे खरीदें | How to Buy Term Insurance

Term Insurance हर व्यक्ति को नहीं मिलता है। टर्म इंश्योरेंस देने वाली कंपनियां उन्हीं व्यक्तियों को Term Insurance देती है जो कमाता है महीने पर उसकी इनकम आती है।

इनकम के साथ-साथ जिन व्यक्तियों ने 3 साल तक आयकर रिटर्न भरा है उन्हीं व्यक्तियों को यह टर्म इंश्योरेंस दिया जाता है। जब भी कोई व्यक्ति टर्म इंश्योरेंस खरीदे तो वह अच्छी कंपनियों का ही टर्म इंश्योरेंस खरीदें क्योंकि बड़ी कंपनियों के टर्म इंश्योरेंस क्लेम करने में कोई भी परेशानी नहीं होती है।

कभी किसी छोटी मोटी कंपनी का टर्म इंश्योरेंस खरीदा जाता है तो क्लेम लेते टाइम पर बहुत समस्याओं का सामना करना पड़ता है। टर्म इंश्योरेंस खरीदने के दूसरे दिन से ही आप लाभ के दायरे में आ जाते हैं।

बाजार में अब ऐसे ऐसे टर्म प्लान भी आने लगे हैं जिनमें पॉलिसी अवधि की समाप्ति होने पर भी मेच्योरिटी बेनिफिट बीमित व्यक्ति को दिए जाते हैं।

इसमें आपके द्वारा जो प्रीमियम का भुगतान किया जाता है वह आपको वापस कर दिया जाता है परंतु इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए आपको अतिरिक्त प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है।

एक टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी आपके परिवार के भविष्य को तो सुरक्षित करती ही है इसके साथ में यह आपको अतिरिक्त टैक्स के लाभ भी देती है। सेक्शन  80 C के अंतर्गत आप डेढ़ लाख रुपए की टैक्स बचत इसके द्वारा कर सकते हैं।

इसके साथ साथ आपको 10(10D) के अनुसार क्लेम करते समय आपको जो राशि मिलती है उस पर किसी प्रकार का टैक्स नहीं लिया जाता है। यह राशि टैक्स फ्री होती है।

Term Insurance का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसमें टर्म इंश्योरेंस कंपनियां आपको आपकी सालाना आय के 20 गुना के बराबर टर्म इंश्योरेंस कवर राशि प्रदान करती हैं।

Home

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *